पुलिस में भर्ती के लिए गयी बेटी,रिजल्ट में मिली मौत

4
murder
murder

झारखंड पुलिस के लिए निकली भर्ती में चुनी गई युवती को मिली दर्दनाक सजा

बिहार के अरवल जिले की युवती पुलिस में भर्ती होकर महिलाओं को न्याय और सुरक्षा दिलाना चाहती थी, लेकिन वह खुद कुछ लोगों की दरिंदगी की शिकार हो गई। उसकी हत्या कर दी गई। घटना तेलपा थाना क्षेत्र के पिहोर गांव की है। राधेश्याम साव की बेटी पुलिस में भर्ती होना चाहती थी।

पढ़ने में तेज और स्वभाव से सुशील युवती झारखंड पुलिस के लिए निकली भर्ती में चुनी गई थी, लेकिन वह बिहार पुलिस में जॉब करना चाहती थी। वह पिछले एक साल से रोज सुबह गांव के बाहर फिल्ड में दौड़ने जाती थी। शनिवार सुबह भी वह रोज की तरह गांव के बाहर दौड़ने गई थी, लेकिन वह वापस घर नहीं पहुंची।

लड़की के पिता राधेश्याम ने कहा कि

बेटी दोपहर तक नहीं लौटी तो मैं गांव के कुछ लोगों के साथ तेलपा थाना गया और पुलिस से एफआईआर दर्ज कर बेटी की तलाश करने की गुहार लगाई। थाने में पुलिस ने कहा कि अभी एफआईआर दर्ज नहीं कराइए। आप गांव के लोगों के साथ बेटी को तलाशने की कोशिश करिए और पुलिस भी उसकी खोज करेगी। 24 घंटे में अगर वह नहीं मिलती है तो एफआईआर दर्द करा दीजिएगा।

पिहोर गांव के एक ग्रामीण ने कहा कि

हमलोग बच्ची को रात से लेकर सुबह तक यहां वहा खोजते रहे। इसी क्रम में रविवार सुबह सीमावर्ती औरंगाबाद जिले के हसपुरा थाना क्षेत्र के बधार से उसका शव मिला। हसपुरा थाने की पुलिस ने शव देखकर रेप की आशंका व्यक्त की है। पुलिस सूत्रों के अनुसार लड़की के साथ पहले रेप किया गया फिर उसकी हत्या कर दी गई। लड़की के मुंह से खून निकल रहा था और उसके शरीर पर कई जगह गहरे जख्म के निशान थे।

लड़की का शव मिलने के बाद गांव के लोग उग्र हो गए और शव रखकर सड़क जाम कर दिया। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस अगर केस दर्ज कर तेजी से छापेमारी करती तो आज लड़की जिंदा होती। होनहार बेटी की हत्या से पूरा परिवार गहरे सदमे में है।

डीएसपी संजय कुमार ने कहा कि पुलिस रेप और प्रेम प्रसंग समेत सभी एंगल से मामले की जांच कर रही है। हत्या से जुड़े कुछ सुराग भी पुलिस को मिले हैं। पोस्टमॉर्टम का रिपोर्ट अभी नहीं आया है। रिपोर्ट आने पर हत्या के संबंध में कुछ और जानकारी मिलेगी।

 

SHARE