Tuesday, May 17, 2022
Home Blog

आज का पंचांग Today Panchang

0
Today Panchang 15 March
Today Panchang 15 March

सौजन्य: सचिन अग्रवाल (मेरठ)
🇮🇳⛳ सुप्रभात🌞 वन्देमातरम्⛳🇮🇳
🌿🍁🔔🐚🔆 🐚🔔🍁🌿
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः


मंगलवार, ⓵⓹ मार्च ⓶⓪⓶⓶
पूर्णिमांत माह : फाल्गुन
अमावस्यांत माह : फाल्गुन
पक्ष : शुक्ल पक्ष
तिथि : द्वादशी (१३:११:३६)
नक्षत्र : आश्लेषा (२३:३१:२४)
योग : सुकर्मा
विक्रम सम्वत : २०७८ आनन्द
शक सम्वत : १९४३ प्लव
युगाब्द : ५१२३
आयन : उत्तरायण
ऋतु : वसंत
सूर्योदय : ०६:२९
सूर्यास्त : १८:२७
अभिजीत मुहूर्त : १२:०४ से १२:५२
राहुकाल : १५:२८ से १६:५८
🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩
~~
प्रभात दर्शन-
जैसे जलकर एक दिवाकर,
दुनिया का अंधकार हरे ।
आओ उजाला भरकर हम भी,
औरों पर उपकार करे ।।
बड़ा इंसान बनना अच्छी बात है, किन्तु अच्छा इंसान बनना बहुत बड़ी बात है।

UP: लखनऊ में आज कांग्रेस आयोजित करेगी ‘‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’’ मार्च

0
UP Congress will organize I can fight a girl march in Lucknow today
UP Congress will organize I can fight a girl march in Lucknow today

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तरफ से 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला सशक्तिकरण का संदेश देते हुए, ‘‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’’ महिला मार्च आयोजित किया जाएगा। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी महिलाओं के अनूठे मार्च का नेतृत्व करेंगी।

प्रेसवार्ता कर मार्च के बारे में जानकारी देते हुए अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष नेट्टा डिसूजा ने बताया कि उत्तर प्रदेश की ऐतिहासिक भूमि से शुरू किया गया ‘‘लड़की हूँ लड़ सकती हूँ’’ अभियान कांग्रेस के लिए आंदोलन है। कांग्रेस पार्टी महिलाओं के सशक्तिकरण की सिर्फ बात ही नहीं करती है, बल्कि उसे जमीन पर लेकर भी जाती है।

उन्होंने बताया कि ‘‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’’ कांग्रेस के लिए सिर्फ चुनावी नारा नहीं बल्कि देश-प्रदेश में महिलाओं को सामाजिक-आर्थिक रूप से सशक्त और सक्षम बनाने के लिए शुरू किया गया आंदोलन है। इसका उद्देश्य भारतीय राजनीति में महिलाओं और उनकी आकांक्षाओं को मुख्यधारा में लाना है। विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी ने वादा किया था कि पार्टी कुल उम्मीदवारों से 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देगी। पार्टी ने वह वादा पूरा किया और इस विधानसभा चुनाव में पार्टी की ओर से 159 महिला उम्मीदवारों को पार्टी ने चुनाव लड़ने का मौका दिया।

डिसूजा ने बताया कि 8 मार्च को दिन में 12 बजे यह मार्च 1090 चौराहे से शुरू होकर वीरांगना ऊदा देवी प्रतिमा, सिकंदरबाग़ पर ख़त्म होगा। इस मार्च में ‘‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’’ की मुहिम को आगे बढ़ाते हुए प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की 159 महिला उम्मीदवार भी शामिल होंगी। इसके अलावा पूरे देश में कांग्रेस पार्टी की निर्वाचित, महिला जनप्रतिनिधियों को भी इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है।

उन्होंने बताया कि यह महिला मार्च एकजुटता का संदेश देने और राजनीति को अधिक समावेशी बनाने के साथ-साथ राजनीति में महिलाओं की भागीदारी का भी प्रतीक है। नारी शक्ति के राजनीतिक पुनरोत्थान को अब कोई ताकत नहीं रोक सकती है और उत्तर प्रदेश से इसकी शुरुआत हो चुकी है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आयोजित इस मार्च में डॉक्टर्स, सेविकाओं, शिक्षिकाओं के साथ खेल और सिने जगत से जुड़ी महिलाओं के अलावा कांग्रेस पार्टी की महिला पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल होंगी।

आज के व्रत और त्यौहार Today Fast

0
Today's fasts and festivals March 8
Today's fasts and festivals March 8
WhatsApp Image 2022 03 08 at 9.47.00 AM
importance of mars in astrology

आज का पंचांग Today Panchang

0
Todays Panchang March 8
Todays Panchang March 8

सौजन्य: सचिन अग्रवाल (मेरठ)
🇮🇳⛳ सुप्रभात🌞 वन्देमातरम्⛳🇮🇳
🌿🍁🔔🐚🔆 🐚🔔🍁🌿
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः


मंगलवार, ⓪⓼ मार्च ⓶⓪⓶⓶
पूर्णिमांत माह : फाल्गुन
अमावस्यांत माह : फाल्गुन
पक्ष : शुक्ल पक्ष
तिथि : षष्ठी (२४:३०:३०+)
नक्षत्र : कृत्तिका (२२:३०:०८+)
योग : वैधृति
विक्रम सम्वत : २०७८ आनन्द
शक सम्वत : १९४३ प्लव
युगाब्द : ५१२३
आयन : उत्तरायण
ऋतु : वसंत
सूर्योदय : ०६:३७
सूर्यास्त : १८:२३
अभिजीत मुहूर्त : १२:०७ से १२:५४
राहुकाल : १५:२७ से १६:५५
🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

प्रभात दर्शन-
नारी केवल मांसपिंड की संज्ञा नहीं है। आदिम काल से आज तक विकास-पथ पर पुरुष का साथ देकर, उसकी यात्रा को सरल बनाकर, उसके अभिशापों को स्वयं झेलकर, और अपने वरदानों से जीवन में अक्षय शक्ति भरकर, मानवी ने जिस व्यक्तित्व, चेतना और हृदय का विकास किया है उसी का पर्याय नारी है।            – महादेवी वर्मा

🍁🦚 आपका दिन मंगलमय हो 🦚🙏
~~
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस

UP: बुंदेलखंड के कलाकारों को मिलेगी नई पहचान, लोककलाओं को मिलेगा बढ़ावा

0
UP Artists of Bundelkhand will get a new identity folk arts will get a boost
UP Artists of Bundelkhand will get a new identity folk arts will get a boost

कोविड-19 जैसी विपरीत परिस्थितियों के बीच शुरू हुए कोंच इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का तीसरा आयोजन जुलाई माह में होगा। विगत दो वर्षों से ऑनलाइन होने वाला फेस्टिवल इस वर्ष ऑफलाइन आयोजित किया जाएगा। उक्ताशय की जानकारी कोंच इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के संस्थापक/संयोजक पारसमणि अग्रवाल ने दी है।

उन्होंने बताया कि तृतीय कोंच इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन 1 जुलाई से 3 जुलाई तक किया जाना प्रस्तावित है जिसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। फेस्टिवल में सिनेमा, साहित्य, समाज, शिक्षा और पत्रकारिता की चर्चित नामचीन विभूतियों की मौजूदगी रहेगी।

पारस ने बताया कि बुंदेलखंड में ऐसे बहुत से लोग हैं जो सिनेमा में कई वर्षों से काम कर रहे हैं लेकिन अपने क्षेत्र, अपनी माटी में पहचान के मोहताज हैं। ऐसी प्रतिभाओं को कोंच इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल एक नई पहचान और मुकम्मल मंच देगा। साथ ही बुंंदेली लोककला को बढ़ावा देने का प्रयास किया जाएगा।उन्होंने अपील की है कि कोंच फिल्म फेस्टिवल को कोई भी शासकीय आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं है।

यह फेस्टिवल आपका है और कोंच क्षेत्र का गौरव है। सभी लोग अपने स्तर से कोई एक व्यवस्था संभाल कर इस भव्य और विशाल आयोजन को सफल बनाने में सहयोग करें जिससे सिनेमा जगत में कोंच नया मुकाम हासिल कर सके। उन्होंने कहा कि फेस्टिवल के लिए सुझाव, सहयोग या अन्य कोई टिप्पणी मोबाइल नंबर 7007084166 पर भेज सकते हैं।

आज का पंचांग Today Panchang

0
Today Panchang March 7
Today Panchang March 7

सौजन्य: सचिन अग्रवाल (मेरठ)
🇮🇳⛳ सुप्रभात🌞 वन्देमातरम्⛳🇮🇳
🌿🍁🔔🐚🔆 🐚🔔🍁🌿
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः


शुक्रवार, ⓪⓸ मार्च ⓶⓪⓶⓶
पूर्णिमांत माह : फाल्गुन
अमावस्यांत माह : फाल्गुन
पक्ष : शुक्ल पक्ष
तिथि : द्वितीया (२०:४४:३०)
नक्षत्र : उत्तर भाद्रपदा (२५:५०:२१+)
योग : शुभ
विक्रम सम्वत : २०७८ आनन्द
शक सम्वत : १९४३ प्लव
युगाब्द : ५१२३
आयन : उत्तरायण
ऋतु : वसंत
सूर्योदय : ०६:४२
सूर्यास्त : १८:२१
अभिजीत मुहूर्त : १२:०८ से १२:५४
राहुकाल : ११:०४ से १२:३१
🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

प्रभात दर्शन-
जिस कार्य को करने में, जिस भाव को सहने में सहजता का अनुभव होता हो मनुष्य उसे सरल कहने लग जाता है...भले ही वह किसी अन्य व्यक्ति के लिए कठिन ही क्यों न हो। तात्पर्य यह है कि एक ही कार्य अथवा भाव, दो व्यक्तियों के लिए भिन्न हो सकता है। कोई भी कार्य सरल अथवा कठिन नहीं होता, विचार साधारण अथवा विशेष नहीं होते, अपितु यह कर्ता पर, उसकी शारीरिक-मानसिक क्षमता, हृदय की स्थिति, उसके आत्म-बल पर निर्भर करता है।  स्मरण रखना चाहिए कि प्रत्येक सरल कार्य प्रारंभ में कठिन ही होता है, भावपूर्ण स्थिति सदैव सहज नहीं होती, अतः आत्म-विश्वास बनाये रखें..!!

🍁🦚 आपका दिन मंगलमय हो 🦚🙏
~~
महान स्वतंत्रता सेनानी और गदर पार्टी के संस्थापक लाला हरदयाल जी की पुण्यतिथि

“वेश्यावृत्ति” से ही हिंदुस्तान की संस्कृति बची है… Gangubai Kathiawadi Film Review

0
Prostitution has saved the culture of India... Gangubai Kathiawadi Film Review
Prostitution has saved the culture of India... Gangubai Kathiawadi Film Review

ये कहानी है, “गंगा” से “गंगूबाई” बनने की, या यूं कह ले… ये कहानी है… एक “अभिनेत्री” बनने का सपना पाले उस लड़की के Prostitute बनने से लेकर समाज मे Prostitute को कानूनी हक दिलाने की।

संजय लीला भनशाली ऐसे Director है जो अपने Artist से हर किरदार के लिए कड़ी मेहनत करवाते है, जो कि इस Film में Alia की Acting देख कर साफ प्रतीत होता है। ‘2’ Dance Sequence और ‘1’ Dialogue Sequence में Alia ने Long Take Shot देकर अपनी प्रिपक्ता दिखाई है, जो किसी भी कलाकार के लिए बहुत मुश्किल होता है।

Story :

फ़िल्म की कहानी “गंगा” (Alia Bhat) के अभिनेत्री बनने के सपने से शुरू होती है। बाद में “गंगा” के एक दोस्त के वादा करने पर की वो मुम्बई में उसको अभिनेत्री बना देगा। ये सुन कर “गंगा” उसके साथ मुम्बई जाने को तैयार हो जाती है, और अपने मम्मी पापा को बिना बताए लड़के के साथ घर से भाग निकलती है। मुम्बई जा कर “गंगा” से “गंगू” और फिर “गंगूबाई” बनने के बीच Film की पूरी कहानी घूमती है और जगह – जगह पर “वेश्यावृत्ति” से जुड़े कई सारे समाजिक मुद्दों को Director ने कहानी के द्वारा दर्शको तक पहुचाने की कोशिश की है।

कहानी में कई बार समाज मे Prostitute को लेकर उठने वाले हर सवाल को बखूबी ढंग से दिखाया गया है। ऊंचे वर्ग के लोगो द्वारा उनपे उठाये जाने वाले सवालों का भी जवाब, Director ने बड़े ही अच्छे अंदाज में दिखाया है। चाहे वो Prostitute के बच्चों की पढ़ाई को लेकर हो, या Prostitute को कानूनी हक दिलाने की लड़ाई में गंगूबाई कैसे उस वक्त के प्रधानमंत्री (जवाहरलाल नेहरू) से अपनी बातें रखती है, ये सब आपको फ़िल्म खत्म होते पता चल जाएगा।

Actors Performance :

Alia bhat को पहली बार ऐसे किरदार में देखना काफी दिलचस्प है। उन्होंने इस Film में अपनी जबरदस्त Acting से ये बता दिया को वो ऐसे चुनौतीपूर्ण किरदार को भी आगे कर सकती है। उनकी आवाज़, हाव भाव, चाल – ढाल देख ऐसा लगता है कि Alia ने अपने किरदार पर मेहनत किया है। Razia Bai के Role में Vijay Raaz का काम काफी कम है, लेकिन जितनी बार वो पर्दे पर आते है, बवाल कर के जाते है। हालांकि Vijay Raaz जैसे कलाकार को और ज्यादा Space दिया जाना चाहिए था। Ajay Devgan का Screen Time भी काफी कम रखा गया है। Seema Bhargava जिन्हें हमने Bareli ki Barfi में Kriti Sanon की माँ के किरदार में देखा था, उन्हें इस फ़िल्म में एक Prostitute के किरदार में देख दर्शक चौक से जाते है, लेकिन Seema Bhargava ने इस फ़िल्म में भी अपने जबरदस्त काम से दर्शको का दिल जीतने में कामयाब हो पाई है। Jim Sarbh एक पत्रकार की भूमिका में अच्छा काम किया है। Jim Sarbh इससे पहले Padmavat में मालिक काफूर के किरदार में दिखे थे। Film में 3 Sec के लिए एक Frame में आपको Ajay Devgan के साथ Raza Murad भी दिखते है और एक छोटा सा Dialogue बोलते है, लेकिन उन्हें महज 3 Sec के लिए क्यों दिखाया गया, ये सवाल दर्शको के जहन में उठते है।

Music & Background Score :

Film में गाने ठीक ठाक है, एक गाना “Huma Qureshi” पर भी फिल्माया गया है, अगर उसको छोड़ दे तो कोई गाना दर्शको की जुबान पर नही चढ़ता है। Film का Background Score “Sanjay Lila Bhanshali” की बाकी फ़िल्म से थोड़ा कमजोर लगता है, दर्शक खुद को कहानी से जोड़ नही पाते।

Camera Work :

Cinematography की बात करे तो, यहां तारीफ करना बनता है। Film में 4, 5 ऐसे Long Shot रहे जिसे देख आपको Cinematographer के बेहरतीन काम का पता चलता है। कुछ ऐसे Close Shot रहे जिन्हें Camera में काफी अच्छे से कैद किया गया है।

क्यों देखें ये Film ?

फ़िल्म के आखरी कुछ Scene में गंगूबाई (Alia Bhat) का एक मंच से “भाषण” देना, वो Scene दर्शको को बांध कर रखता है, “गंगुबाई” के उस Scene में कुछ अच्छे Dialogue है जो दर्शकों के ज़ुबान पर आसानी से चढ़ जाएंगे।
कुल मिलाकर अगर आप Sanjay Lila Bhanshali के काम के फैन है और “गंगुबाई” की कहानी जानने में दिलचस्पी रकहते है, तो फ़िल्म एक बार देख सकते है।

Film का एक Dialogue जहा “गंगुबाई” ये कहती है कि “वेश्यावृत्ति” से ही हिंदुस्तान की संस्कृति बची है… ये बात दर्शकों को थोड़ी खटकती है, आप इस Dialogue पे क्या विचार रखते है ???

आज का पंचांग Today Panchang

0
Todays Panchang 28 February
Todays Panchang 28 February

सौजन्य: सचिन अग्रवाल (मेरठ)
🇮🇳⛳ सुप्रभात🌞 वन्देमातरम्⛳🇮🇳
🌿🍁🔔🐚🔆 🐚🔔🍁🌿
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः


सोमवार, ❷❽ फरवरी ❷⓿❷❷
पूर्णिमांत माह : फाल्गुन
अमावस्यांत माह : माघ
पक्ष : कृष्ण पक्ष
तिथि : त्रयोदशी (२७:१५:३०+)
नक्षत्र : उत्तराषाढा (०७:००:५७, श्रवण)
योग : वरियान
विक्रम सम्वत : २०७८ आनन्द
शक सम्वत : १९४३ प्लव
युगाब्द : ५१२३
आयन : उत्तरायण
ऋतु : वसंत
सूर्योदय : ०६:४६
सूर्यास्त : १८:१८
अभिजीत मुहूर्त : १२:०९ से १२:५५
राहुकाल : ०८:१२ से ०९:३९
🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

प्रभात दर्शन-
किसी को हाथ से दिया धन ही दान अथवा परोपकार की श्रेणी में नही आता, अपितु किसी भूखे को भोजन, प्यासे को पानी, गिरते हुए को संभालना, किसी रोते बच्चे को गोद में उठा लेना, किसी अनपढ़ को अक्षर ज्ञान देना, किसी वृद्ध अथवा असमर्थ को रास्ता पार कराना भी उत्तम परोपकार अथवा दान की श्रेणी में आता है। हम किसी को उत्साहित कर दें, आत्मनिर्भर बना दें या साहसी बना दें, यह भी परोपकार है। किसी के भ्रम-भय का निवारण करना और उसके आत्म-उत्थान में सहयोग करना भी सर्वोत्तम परोपकार हैं। 

🍁🦚 आपका दिन मंगलमय हो 🦚🙏
~~
भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद जी की पुण्यतिथि, राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

आज के व्रत और त्यौहार Today Fast

0
Today's fasts and festivals March 8
Today's fasts and festivals March 8
WhatsApp Image 2022 02 22 at 11.03.05 AM
Bajrang Baan is very powerful

आज का पंचांग Today Panchang

0
Todays Panchang 22 February
Todays Panchang 22 February

सौजन्य: सचिन अग्रवाल (मेरठ)
🇮🇳⛳ सुप्रभात🌞 वन्देमातरम्⛳🇮🇳
🌿🍁🔔🐚🔆 🐚🔔🍁🌿
ॐ सर्वे भवन्तु सुखिनः


मंगलवार, ⓶⓶ फरवरी ⓶⓪⓶⓶
पूर्णिमांत माह : फाल्गुन
अमावस्यांत माह : माघ
पक्ष : कृष्ण पक्ष
तिथि : षष्ठी (१८:३३:५६)
नक्षत्र : स्वाति (१५:३४:५५)
योग : वृद्धि
विक्रम सम्वत : २०७८ आनन्द
शक सम्वत : १९४३ प्लव
युगाब्द : ५१२३
आयन : उत्तरायण
ऋतु : वसंत
सूर्योदय : ०६:५२
सूर्यास्त : १८:१४
अभिजीत मुहूर्त : १२:१० से १२:५६
राहुकाल : १५:२३ से १६:४९
🚩🚩🚩🚩🚩🚩🚩

प्रभात दर्शन-
हर विषय, वस्तु, कार्य का श्वेत एवं श्याम पक्ष दोनों होता है। यह देखने वाले के ऊपर निर्भर है कि वो कौन सा पक्ष देखता है। हर कार्य में कुछ त्रुटि भी हो सकती है किन्तु जिसका स्वभाव आलोचनात्मक हो तो उससे आप अपने किसी भी कार्य की प्रशंसा की अपेक्षा नही कर सकते। स्मरण रहे कि आप कितना भी अच्छा कार्य का प्रयास करें किन्तु नकारात्मक व्यक्ति आपकी गलती ढूंढने के लिए अपनी सम्पूर्ण ऊर्जा लगा देंगे। अतः श्रेष्ठ यही है कि ऐसे नकारात्मक व्यक्तियों की बातों पर ध्यान न दें, सहज एवं सरल रहें।

🍁🦚 आपका दिन मंगलमय हो 🦚🙏
~~
माता यशोदा जयंती, गुरूकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय के संस्थापक एवं महान शिक्षाविद स्वामी श्रद्धानंद सरस्वती जी की जयंती, प्रसिद्ध कवि सोहनलाल द्विवेदी जी की जयंती