Assam: आजादी के इतने साल बाद भी पुल की बाँट जोह रहे ग्रामीण,जान जोखिम में डाल करते है नदी पार

देश की आजादी को हुये 74 साल इस साल को अगस्त में होने जा रहे है। आज भी देश में ऐसे इलाके है जोकि मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। Assam में एक ऐसा ही इलाका है जनपद शिवसागर । जानकारी के अनुसार इस जनपद में लोरपुटा, नाओजान क्षेत्र के कम से कम छह गाँवो के लोगों लकड़ी के पुल से Dorika नदी को पार करना पड़ता है। वहीं जनपद शिवसागर के मुख्यालय से लोरपुटा व नाओजान क्षेत्र मात्र 24 किलोमीटर की दूरी पर है। यहाँ रहने वाले निवासी कई सालों से यहाँ पुल बनाये जाने की माँग सरकार से कर रहे है। लेकिन न तो अभी तक सरकार ने इनकी बात सुनी है न ही यहाँ से चुन करके गये विधायकों ने। ऐसे में यहाँ के लोगों ने जान-जोखिम में डाल खुद के सफर का रास्ता खुद बना लिया है। उन्होंने बाँस के जरिये एक जोखिम भरे पुल का निर्माण किया है जिससे वह नदी पार करते है। वहाँ के आसपास क्षेत्रों के स्कूली छात्र भी इसी बाँस के पुल से गुजरते है,वहीं जब कोई बीमार होता है तो यहाँ के लोगों को खासी दिक़्क़त का सामना करना पड़ता है। यहाँ के निवासियों ने बताया कि चुनाव के समय यहाँ के सभी नेता और राजनीतिक दल यहाँ पुल बनाने की बात करते है। लेकिन अभी तक बाढ़ग्रस्त क्षेत्र में वादों के अलावा कुछ नहीं मिला है।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles