Bundelkhand: तेज हुई बकस्वाहा जंगल को बचाने की माँग,खून से लिखे पत्र SAVE BAXWAHA FOREST


आज बुंदेलखंड नव निर्माण सेना ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण बुंदेलखंड में एक दिवसीय सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया व केंद्रीय कार्यालय हमीरपुर जनपद के ग्राम कुनेहटा में प्रधानमंत्री जी के नाम खून से पत्र लिख कर बकस्वाहा जंगल बचाने की मांग की।

आपको बता दें 1 जून को ही बुंदेलखंड नव निर्माण सेना के अध्यक्ष विनय तिवारी के नेतृत्व में जनपद हमीरपुर से बकस्वाहा जंगल मध्यप्रदेश की यात्रा 230 किमी बाइक से की थी जहाँ पहुँचकर सेना के कार्यकर्ताओं ने वृक्षों को धागा बाँधकर उन्हें बचाने की प्रतिज्ञा ली थी और आज जनपद हमीरपुर के विभिन्न गाँवो में सेना के लोगो ने अपने घरों मे रहकर धरना प्रदर्शन किया साथ ही बकस्वाहा जंगल बचाने की मांग की थी।

बक्स्वाहा जंगल को बचाने के बीड़ा वहाँ के युवाओं ने उठाया है वहीं युवाओं द्वारा किये गये SAVE BAXWAHA हैशटैग के 72000 ट्ववीट के बाद ही बक्स्वाहा पुरे भारत में सुर्खियाँ बन गया।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles