Sunday, February 5, 2023

किसान 26 मई को पुरे देश में करेंगे विरोध प्रदर्शन, 12 राजनैतिक पार्टियों समर्थन |

नए कृषि कानून को लेकर किसान संगठन लगातार नए कानून का विरोध कर रहे हैं और इससे वापस लेने की मांग कर रहे है, 26 May को आंदोलन को किसान चलते हुए पुरे 6 महीने पुरे जाएंगे, कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान नेताओं को एक बार फिर विपक्षी दलों का समर्थन मिला है।

कांग्रेस समेत 12 बड़ी विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त किसान मोर्चा के उस फैसले का समर्थन किया है जिसमें 26 मई को देश भर में प्रदर्शन करने की घोषणा की गई है।

Air India के 45 लाख ग्राहकों का Data Leak.

सयुक्त किसान मोर्चा के इस बयान पर सोनिया गांधी (कांग्रेस), एच डी देवेगौड़ा (जद-एस), शरद पवार (राकांपा), ममता बनर्जी (टीएमसी), उद्धव ठाकरे (शिवसेना), एम के स्टालिन (द्रमुक), हेमंत सोरेन (झामुमो), फारूक अब्दुल्ला (जेकेपीए), अखिलेश यादव (सपा), तेजस्वी यादव (राजद), डी राजा (भाकपा) और सीताराम येचुरी (माकपा) ने हस्ताक्षर किये हैं|

IMA ने कहा बाबा रामदेव अपनी अवैध दवा बेचने के लिए एलोपैथी के बारे भ्रम फैला रहे है |

बयान में कहा गया है, ‘हमने 12 मई को संयुक्त रूप से प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा था: ‘महामारी का शिकार बन रहे हमारे लाखों अन्नदाताओं को बचाने के लिये कृषि कानून निरस्त किये जाएं ताकि वे अपनी फसलें उगाकर भारतीय जनता का पेट भर सकें

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles