Tuesday, January 25, 2022
HomeNewsINDIAInternational Football Player संगीता ईंट के भट्टे में काम करने को मजबूर...

International Football Player संगीता ईंट के भट्टे में काम करने को मजबूर : Jharkhand.

-

झारखंड में रह रहीं International Football Player संगीता सोरेन और उनका परिवार गरीबी की जिंदगी जीने को मजबूर है, संगीता के पिता दूबे सोरेन नेत्रहीन होने की वजह से कोई काम करने में असमर्थ हैं, जबकि उनका भाई दिहाड़ी मजदूर है, भाई की आमदनी किसी दिन होती है और किसी दिन नहीं, ऐसे में परिवार का पेट पालने के लिए संगीता को ईंट भट्टे में काम करना पड़ रहा है।

संगीता ने 4 महीने पहले ही झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मदद मांगी थी,पर 4 महीने बाद अब तक संगीता को किसी भी प्रकार की मदद नहीं मिली। मदद नहीं मिलने पर संगीता राज्य सरकार पर भी बिफर पड़ीं। उन्होंने कहा- सरकार से हम क्या मांग करें। उन्हें खुद ही मेरे बारे में सोचना चाहिए। जिन आदिवासियों के कल्याण के लिए झारखंड का गठन हुआ है, राज्य सरकार उस उद्देश्य से ही भटक चुकी है। मैंने पहले भी कई बार सरकार से मदद मांगी, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

अब आप भी कर सकेंगे Cryptocurrency में निवेश, केंद्र सरकार Cryptocurrency को रेगुलेट करने की सोच रही है|

अब महिला आयोग ने इस पर एक्शन लेते हुए झारखंड सरकार और ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन को चिट्ठी लिखी है, आयोग ने उनसे संगीता को अच्छी नौकरी देने के लिए कहा है, ताकि वे अपना बाकी जीवन सम्मान के साथ गुजार सकें, महिला कमीशन ने अपने प्रेस नोट में लिखा- संगीता पिछले 3 साल से जॉब पाने की कोशिश कर रही हैं, पर किसी ने उनकी मदद नहीं की। इंटरनेशनल लेवल पर खेलने के लिए भी उन्हें सिर्फ 10 हजार रुपए दिए गए। संगीता की स्थिति देश के लिए शर्म की बात है। उन्हें तरजीह दी जानी चाहिए। उन्होंने सिर्फ अपने देश को नहीं बल्कि, झारखंड को भी वर्ल्ड फुटबॉल में रिप्रजेंट किया है। यह सब उनकी लगन और मेहनत की वजह से हो सका।

संगीता 2018-19 में Under-17 लेवल पर भूटान और थाईलैंड में खेले गए इंटरनेशनल फुटबॉल चैंपियनशिप में टीम इंडिया का हिस्सा रह चुकी हैं, टीम ने इसमें ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

MLA बृजभूषण राजपूत ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र, लोगो को बचाने के लिए मांगी और मदद |

महिला आयोग ने लिखा- चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने झारखंड के मुख्य सचिव से कहा है कि संगीता को हरसंभव मदद दी जाए, ताकि वह अपनी बाकी जिंदगी सम्मान के साथ जी सके और परिवार की मदद कर सके। इसकी कॉपी AIFF को भी भेजी गई है।

Related articles

Stay Connected

20,000FansLike
71FollowersFollow
14SubscribersSubscribe

Latest posts