सरवाईकल और स्पॉन्डिलाइटिस जैसी बिमारियों से कैसे पाएं निजाद !

How to get rid of diseases like cervical and spondylitis
How to get rid of diseases like cervical and spondylitis

सरवाईकल और स्पॉन्डिलाइटिस की समस्या हद से ज़्यादा बढ़ती जा रही है, इस बीमारी ने बड़े बूढ़ों को तो शिकंजे मे लिया ही है लेकिन छोटे छोटे बच्चों को भी नहीं छोड़ा है। सरवाईकल और स्पॉन्डिलाइटिस स्पाइन में होने वाली बीमारियां हैं, स्पाइन हमारे शरीर का एक बहुत ही एहम हिस्सा है ये हमारी बॉडी को मुख्या सपोर्ट देता है परन्तु आज कल की लाइफ्स्टाइल मे हम लोग गैजेट्स जैसे फ़ोन, लैपटॉप, कंप्यूटर के सामने घंटो बैठे रहते है ये हमारे स्पाइन को कमजोर बनना रहा है। स्पाइन की बीमारीयो का एक कारण गलत तरीके से सोना भी होती है। एक ही जगह अपनी रिड को रखने से स्पाइन कमज़ोर हो जाती है अगर ज़्यादा दिन तक दर्द को नज़र अंदाज़ करा जाये तो ये एक बहुत बड़ी समस्या बन सकती है इसका दर्द बर्दाश के बाहर भी जा सकता है इसमें उलटियां भी होने की सम्भावना है और इन बिमारियों का कोई स्थाई इलाज नहीं है।

इससे कैसे बचा जाए:

1. जीतता होसके इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के सामने कम से कम बैठे अगर बोहोत ज़्यादा ज़रूरी है तो सीधा बैठने की कोशिस करे।
2. अपने सर गर्दन को ज़्यादा देर तक नीचे या ऊपर ना रखे।
3. कोषिष करे की लैपटॉप या टीवी या फ़ोन को एक दम अपने सर की सीध मे रखे जिससे आपकी स्पाइन अपनी नेचुरल स्तिथि मे रहेगी।
4. काम के बेच बीच म ५- ५ मिनट का ब्रेक ले और चले।
5. अपनी गर्दन को हर आधे घंटे में दायें -बायें, ऊपर-नीचे और गोल-गोल घुमाये।
6. सोत्ते समये या तो तकिया न ले अगर ले तो थोड़ा हार्ड तकिया ले।
7. हो सके तो सुबह उठ के कुछ सरल योग आसान करले वो आपकी पीठ, गर्दन और कंधे के दर्द के लिए बहुत उपयोगी होगा।

Loading...