देशभर में है इतने लाख करोड़ का कर्ज, इन जगहों पर सबसे ज्यादा फर्जीवाड़ा !

Loan Defaulter case in india
Loan Defaulter case in india

फर्जीवाड़े की बात करें तो देश में हर जगह फर्जीवाड़ा मिल जायेगा। अभी हाल ही में पीएनबी बैंक में 11 हज़ार करोड़ से ज्यादा का घोटाला सामने आया है। आपको जानकर हैरानी होगी की देशभर में 70 हजार से ज्यादा फर्जीवाड़े के केस हैं।

कहां है सबसे ज्यादा फर्जीवाड़ा ?

फर्जीवाड़े का सबसे ज्यादा नुकसान बैंको को हो रहा है। जिसकी वजह से बैंकों के 3.5 से 4 लाख करोड़ रुपए फंसे हुए हैं। दिल्ली की बात करें तो अकेले दिल्ली में ही बैंक लोन डिफॉल्ट के 2400 मामले चल रहे हैं। इनमें कई बैंकों के 65 हजार करोड़ रुपए फंसे हुए हैं। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, डीआरटी में चलने वाले 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के मामले की रिपोर्ट प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में भेजी जाती है। इसमें उस मामले को लेकर हुई प्रोग्रेस की पूरी डिटेल होती है।

कैसे हो रहा है काम ?

अब आप जानिए की कैसे हो रहा है काम, दिल्ली डीआरटी में 6 रिकवरी अफसरों की जरूरत है, लेकिन यहां फिलहाल 3 रिकवरी अफसर ही हैं। इसी तरह मुंबई के डीआरटी में भी रोजाना 150 से अधिक मामलों की सुनवाई होती है। एक रिकवरी ऑफिसर को एक दिन में 50 से ज्यादा मामले निपटाने होते हैं। उन पर काम का इतना ज्यादा दबाव होता है कि किसी मामले की अगली तारीख आने में कम से कम दो महीने लगते हैं। यानी रिकवरी के एक मामले की सुनवाई एक साल में ज्यादा से ज्यादा 6 बार हो सकती है। और तो और डिफॉल्टर के वकील कोई न कोई अर्जी लगाकर तारीख को और आगे ले जाने की कोशिश में जुटे रहते हैं।

Loading...