सलमान का VIP ट्रीटमेंट देख भड़क उठे आशाराम, प्रसाशन से कह दी ये बात !

Salman Khan Got Vip Treatment In Jail
Salman Khan Got Vip Treatment In Jail

काला हिरण शिकार के दोषी सलमान खान जोधपुर सेंट्रल जेल में दो रात गुजार चुके हैं। सलमान पर 5 साल की सजा के साथ 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। लेकिन जेल में उनकी दिनचर्या और लाइफस्टाइल से कतई नहीं लग रहा कि वे एक कैदी हैं।

आपको बता दें, दूसरे दिन शुक्रवार को भी सलमान ने ना तो कैदियों की ड्रेस पहनी और ना ही जेल का खाना खाया। पूरे समय वे जींस-टीशर्ट में ही रहे। साथ ही सलमान से मिलने वालों का भी तांता लगा हुआ है। जेल में सलमान से मिलने सुरक्षाकर्मी, जेल प्रहरी के अलावा ड्यूटी वाले नंबरदार बारी-बारी से आते रहे। फिर प्रिटी जिंटा और बहनों से मुलाकात की। इस दौरान बॉडीगार्ड शेरा भी यहां मौजूद था।

सलमान की इतनी खातिर देखकर आसाराम को यह सब अच्छा नहीं लगा और उन्होंने गुस्से में जेल कर्मियों से कहा कि ‘मुझसे तो कभी कोई मिलने नहीं आया, फिर उनसे क्यों? ज्ञात हो कि, आसाराम जेल में सलमान के पड़ोसी हैं, उनका बैरक सलमान के बैरक के ही पास है। हालांकि आसाराम ने सलमान खान को अपना टिफिन आॅफर किया,लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। कोर्ट की अनुमति से आसाराम का भोजन उनके आश्रम से आता है।

जेल में सलमान की पहली रात काफी लम्बी निकली। वे रातभर अपनी बैरक में टहलते रहे,कभी खड़े होते तो कभी बैठ जाते। तनाव में सलमान बार-बार सिगरेट फूंकते रहे। रात में जेल बैरक के बाहर पंखे लगे हुए थे, लेकिन मच्छर काटने से नींद नहीं आ रही थी। आखिरकार उन्हे सुबह करीब साढ़े तीन बजे नींद आई और आठ बजे नींद खुली। सलमान खान को जेल प्रशासन की ओर से एक जमीन में बिछाने के लिए एक दरी और चार कम्बल दिए गए हैं। हवा के लिए एक पंखा है।

भारतीय संस्कृति में भी काले हिरण का ख़ास स्थान रहा है. अनुमान है कि सिंधु घाटी सभ्यता में ये भोजन का स्रोत रहा है और धोलावीरा और मेह्रगढ़ जैसी जगह भी इसकी हड्डियों के अवशेष मिले हैं। 16वीं से 19वीं सदी के बीच कायम रही मुग़ल सल्तनत में ब्लैक बक की कई छोटी पेंटिंग मिलती हैं. भारत और नेपाल में ब्लैक बक को नुकसान नहीं पहुंचाया जाता और नुकसान पहुंचाने वालों से सख़्ती से निपटा जाता है। बिश्नोई जैसे समुदाय इन्हें क़रीब-क़रीब पूजते हैं। आंध्र प्रदेश ने इन्हें स्टेट एनिमल का दर्जा दिया है। संस्कृत में इन हिरण का ज़िक्र कृष्ण मृग के रूप में मिलता है। हिंदू प्राचीन ग्रंथों के मुताबिक ब्लैक बक भगवान कृष्ण का रथ खींचता नज़र आता है। काले हिरण को वायु, सोम और चंद्र का वाहन भी माना जाता है।

Loading...