मस्जिद ब्लास्ट केस: असीमानंद समेत सभी 5 आरोपी बरी, कोर्ट में मुकरे 64 गवाह !

Mecca Masjid Bomb Blast Case Verdict
Mecca Masjid Bomb Blast Case Verdict

मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले में मुख्य आरोपी स्वामी असीमानंद सहित सभी 5 आरोपियों को कोर्ट ने बरी कर दिया है। नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की नामापल्ली स्पेशल कोर्ट ने सोमवार को 11 साल बाद फैसला सुनाया। आपको बता दें कि इस मामले में असीमानंद मुख्य आरोपी थे। देवेंद्र गुप्ता, लोकेश शर्मा, स्वामी असीमानंद, भरत और राजेंद्र चौधरी को आरोपी बनाया गया था।

18 मई, 2007 को जुमे की नमाज के दौरान ऐतिहासिक मक्का मस्जिद में हुए विस्फोट में नौ लोगों की मौत हो गई थी और 58 लोग घायल हो गए थे। शुरुआती जांच के बाद यह केस एनआईए को ट्रांसफर कर दिया गया था। इस मामले में असीमानंद मुख्य आरोपी थे। एक आरोपी सुनील जोशी की जांच के दौरान हत्या कर दी गई थी। दो और आरोपी संदीप वी डांगे और रामचंद्र कलसंग्रा के बारे में मीडिया रिपोर्टस में दावा किया गया है कि उनकी भी हत्या कर दी गई है। दोपहर 1 बजे के आसपास मस्जिद में धामाका हुआ था।

केस में 10 आरोपी: 1. स्वामी असीमानंद, 2. देवेंदर गुप्ता, 3. लोकेश शर्मा (अजय तिवारी), 4. लक्ष्मण दास महाराज, 5. मोहनलाल रातेश्वर, 6. राजेंदर चौधरी, 7. भारत मोहनलाल रातेश्वर, 8. रामचंद्र कलसांगरा (फरार), 9. संदीप डांगे (फरार), 10. सुनील जोशी (मृत)। NIA को इस केस की जांच में काफी मुश्कलों का सामना करना पड़ा, क्योंकि 64 गवाह कोर्ट के सामने मुकर गए, जिनमें लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित और झारखंड के मंत्री रणधीर कुमार सिंह भी शामिल हैं।

कौन है स्वामी असीमानंद ?

असीमानंद का जन्म पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में हुआ था उनके पिता देश के स्वतंत्रता सेनानी रह चुके थे। असीमानंद अपने 6 भाई-बहनों में से एक थे। स्वामी असीमानंद एक पूर्व आरएसएस कार्यकर्ता थे। उन्हें मक्का मस्जिद विस्फोट के सिलसिले में 19 नवंबर, 2010 को गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने लिखित तौर पर कहा था कि अभिनव भारत के कई सदस्यों ने मस्जिद में बम विस्फोट की साजिश रची थी। बाद में स्वामी असीमानंद को 23 मार्च 2017 को जमानत दे दी गई। असीमानंद को अजमेर ब्लास्ट केस में पहले से ही बरी कर दिया गया था। साथ ही मालेगांव और समझौता धमाके में भी उन्हें पहले ही जमानत दी जा चुकी है। असीमानंद पर समझौता एक्सप्रेस, मक्का मस्जिद और मालेगांव ब्लास्ट में भी शामिल होने के आरोप हैं।

Loading...