HRD मिनिस्टर निशंक ने दिया इस्तीफा,अन्य मंत्रियों से भी लिये गये इस्तीफे

Modi सरकार के कैबिनेट विस्तार को लेकर हलचलें तेज है। इसी क्रम में आज मंत्रियों से इस्तीफे लेकर उनकी छुट्टी की जा रही है। सबसे पहले थावर चंद गहलोत से इस्तीफा लेकर उन्हें कर्नाटक राज्य के राज्यपाल की कमान सौंप दी गयी थी। उनके पास इसके पहले सामाजिक न्याय और अधिकारिता का विभाग था। इस विस्तार में पाँच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों का बखूबी ध्यान रखा जा रहा है। इस विस्तार में उन राज्यों के बड़े नेताओं को खास तवज्जो देकर मंत्रिमंडल में शामिल किया जायेगा।
जानें किन मंत्रियों से माँगे गये है इस्तीफ़े
रमेश पोखरियाल निशंक- इस समय निशंक मानव संसाधन मंत्रालय देख रहे थे। वहीं वह कई दिनों पहले Covid संक्रमित हो गये इसके कारण वह एक महीने अस्पताल में Admit भी रहे। स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुये उन्होंने इस्तीफा सौंपा है।
डॉ हर्षवर्धन- Covid की दूसरी लहर में सरकार विपक्षी दलों के घेरे में आ गयी थी। स्वास्थ्य मंत्रालय के कामकाजों पर भी लोगों ने उँगली उठायी थी। जिसके चलते अब डॉ हर्षवर्धन से इस्तीफा ले लिया गया है।
संजय धोत्रे- सूचना और प्रौद्योगिकी के राज्य मंत्री संजय धोत्रे के कामकाज से PM नरेंद्र मोदी नाखुश दिखे थे। जिसके बाद उनसे इस्तीफा ले लिया गया है। वहीं उन्हें अब संगठन में जगह दी जा सकती है।
प्रताप सारंगी- ओडिसा के चर्चित मंत्रियों में शुमार प्रताप सारंगी सूक्ष्म,लघु और मध्यम के राज्यमंत्री थे। उनसे भी इस्तीफा लिया जा रहा है।
संतोष गंगवार- Covid संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान संतोष गंगवार के एक वायरल पत्र ने सरकार की फजीहत करवा दी थी जिसके कारण इनसे भी इस्तीफा लिया जा रहा है। वह श्रम एवं रोजगार (स्वतंत्र प्रभार) विभाग संभाल रहे थे।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles