ICMR- कोरोना की तीसरी लहर दूसरी लहर के अनुरूप नहीं होगी गंभीर

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर पूरे देश में भय सा व्यापत है। ऐसे में यह खबर अच्छी खबर कही जा सकती है,क्योंकि ICMR ने तीसरी लहर को दूसरी लहर से कमजोर बताया है। ICMR के प्रमुख वैज्ञानिक डॉक्टर समीरन पांडा ने कहा कि देश में चल रहा प्रभावी टीकाकरण तीसरी लहर को रोकने में मदद करेगा। वहीं डेल्टा प्लस वेरियंट के Effect पर लगातार अध्ययन किया जा रहा है। उन्होंने आगे बताते हुये कहा कि तीसरी लहर में कोरोना संक्रमण आधारित प्रतिरक्षा इम्यूनिटी कैपेसिटी समय के साथ कम हो सकती है। ऐसे में आशंका यही है कि पहले एक बार संक्रमण की चपेट में आ चुके लोग दोबारा संक्रमित हो सकते है।वहीं ICMR के अध्ययन में यह भी पता चला है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में गर्भवती महिलाएं गंभीर रूप से प्रभावित हुई साथ ही इस साल मृत्यु दर और संक्रमित मामलों के आँकड़ो में काफी बढ़ोतरी हुई है। वहीं देश में डेल्टा प्लस वेरियंट को लेकर सरकार अलर्ट मोड़ में है सरकार ने सभी राज्यों से कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग बढ़ाने के लिये कहा है।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles