Madhya Pradesh: बच्चा अगर 12 साल से छोटा,तो माता-पिता का तुरंत होगा वैक्सिनैशन

देश में तीसरी लहर को देखते हुये काफ़ी सतर्कता बरती जा रही है,ऐसे में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक अहम फैसला लिया है। उनका यह फैसला मध्य प्रदेश में बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाव की दिशा में अहम कदम माना जा रहा है।

वहीं मध्यप्रदेश सरकार ने टीकाकरण में 12 साल से कम उम्र के माता-पिता को प्राथमिकता देने का फ़ैसला किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि जब अभिभावकों को जब टीका लग जायेगा तो बच्चों की संक्रमित होने की संभावना न के बराबर है और इससे खतरा भी घटेगा। उन्होंने आगे बातचीत में कहा कि अगर अगर तीसरी लहर का असर बच्चों पर पड़ता है तो उनके परिजनों को टीका लेने से फ़ायदा होगा।


विदेश जाकर पढ़ाई करने वाले बच्चों पर भी नज़र


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि MP के काफ़ी सारे बेटे-बेटियां शिक्षा प्राप्त करने के लिये विदेश जाते है ऐसे में उन्हें सुरक्षित करके भेजना सरकार की जिम्मेदारी है,जिन बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने के लिये विदेश जाना है उनका भी प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किया जायेगा,जिससे वह सुरक्षित होकर विदेश जाकर सुचारु रूप से पढ़ाई कर सकें।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles