ड्राफ्ट से हटाया जाये एक बच्चे का नियम, विहिप ने CM Yogi से की माँग

ड्राफ्ट से हटाया जाये एक बच्चे का नियम, विहिप ने CM Yogi से की माँग
UP में जनसंख्या विधेयक आते ही सियासी गलियारों में हलचल मच पड़ी है। वहीं नेताओं के तरह तरह बयान रोजाना आ रहे है, ऐसे में विश्व हिंदू परिषद ने भी Yogi सरकार से इसमें एक अनुरोध को स्वीकार करने के लिये कहा है।

विश्व हिन्दू परिषद ने बयान जारी करते हुये कहा है कि ” ड्राफ्ट से UP सरकार एक बच्चे के नियम को हटा दें, क्योंकि इससे समाज में असंतुलन बढ़ेगा”। आपको बता दें कि Yogi सरकार ने विगत दिवस जनसंख्या नियंत्रण बिल का ड्राफ्ट उत्तर प्रदेश विधि आयोग की वेबसाइट में अपलोड कर दिया है। वहीं 19 जुलाई तक इससे जुड़ी आपत्तियां लोंगो से माँगी गयी है। दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद ने जिस बिल पर आपत्ति जताई है उसकी प्रस्तावना में लिखा है कि “यह बिल जनसंख्या को स्थिर करने के उद्देश्य से और बच्चों के मानदंड को बढ़ावा देने के लिये लाया जा रहा है”।

वहीं विश्व हिंदू परिषद ने इन दोनों बातों से सहमति जतायी है। लेकिन बिल के खंड 5, 6(2) और 7 में सरकारी कर्मचारियों से जुड़े एक नियम में विहिप ने आपत्ति जताई है, जिसमें यह है कि सरकारी कर्मचारियों और अन्य लोगों को सिर्फ एक ही बच्चा होगा, उन्हें ही Insentive दिया जायेगा। इस पर विहिप ने आपत्ति जताई है। विहिप ने अपने बयान में प्रजनन दर का उल्लेख भी किया है। वहीं बिल में प्रजनन दर को 1.7 फीसद तक लाने की सरकार की योजना है। विहिप ने कहा है कि एक बच्चे के नियम से इसका असर नेगेटिविटी ग्रोथ पर भी हो सकता है।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles