UP: तीन में प्रदेश के लिये खरीदी गयी 142 करोड़ की बिजली, कोयले का स्टॉक कुछ ही दिनों का

कोयले का संकट धीरे-धीरे व्यापक रूप लेता जा रहा है, जहाँ कोयले के संकट के कारण बिजली उत्पादन यूनिटों के बंद होने का क्रम लगातार जारी है। जानकारी के अनुसार फिलहाल में 5000 मेगावॉट बिजली की सप्लाई कोयले के न आने का कारण हो रही है, वहीं प्रदेश में स्थिति को सुचारू रूप से बनायें रखने के लिये लगातार महँगी बिजली खरीदी जा रही है, जिस क्रम में UP राज्य विद्युत उत्पादन निगम 142 करोड़ रुपये की बिजली अभी पूर्ववत के दिनों में खरीद चुका है।

बता दें कि प्रदेश सरकार इस बिजली की खरीद 17 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से कर रही है, इसके साथ ही पहले ये नियम बनाया गया था कि प्रदेश सरकार 7 रुपये यूनिट से ज्यादा बिजली नहीं खरीदेगा। वहीं मौजूदा स्थिति को देखते हुये निजी घराने के एनर्जी एक्सचेंज अधिक मुनाफा कमाने पर जोर दे रहीं हैं, जहाँ उनका उत्पादन में आने वाले खर्चा 6 रुपये यूनिट से ज्यादा नहीं है।

बता दें कि कोयले की भारी कमी के कारण 3500 मेगावॉट सप्लाई पूरी तरह से बंद है, इसके साथ ही अन्य पाँच जगहों पर भी उत्पादन क्षमता बुरी तरह प्रभावित है, जहाँ 5264 मेगावॉट का उत्पादन कोयले के न मिलने के कारण हो सका है।

इन उत्पादन यूनिटों में संकट-
अनपरा- डेढ़ दिन का कोयला बचा
ओबरा- दो दिन
हरदुआगंज- एक दिन
परीछा- आधा दिन

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles