ओडिशा : तट से टकराया Yaas तूफान, घरों में घुसा पानी |

यास तूफान बुधवार सुबह करीब 9 बजे ओडिशा के भद्रक जिले के तट से टकराया,और समुद्र ऊँची लहरें उठने लगी जिस वजह से छेत्र के कई कॉलोनियों में समुद्र का पानी भर गया है।

मौसम विभाग ने तूफान के लैंडफॉल की पुष्टि की है, बंगाल और ओडिशा के अलावा बिहार, झारखंड, तमिलनाडु और कर्नाटक में भी तूफान का असर दिख रहा है।

Tauktae तूफान का कहर ,गुजरात और महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों को भेजा गया सुरक्षित स्थान |

यास तूफान के कारण झारखंड के पश्चिम सिंहभूम जिले में सुबह से बारिश हो रही है, कई जिलों में चेतावनी जारी की गई है, वहीं, पटना सहित बिहार के 26 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट है।

पश्चिम बंगाल और ओडिशा में आपदा राहत की टीमें तैनात हैं। एयरफोर्स और नेवी ने भी अपने कुछ हेलिकॉप्टर और नावें राहत कार्य के लिए रिजर्व रखी हैं। तूफान को लेकर ओडिशा के 6 जिले हाई रिस्क जोन घोषित किए गए हैं। इनमें बालासोर, भद्रक, केंद्रपारा, जगतसिंघपुर, मयूरभंज और केओनझार शामिल हैं।

बंगाल के नदिया, पश्चिमी मेदिनीपुर, पुरुलिया, पश्चिमी बर्धमान, झारग्राम, पुरुलिया, बांकुरा, बीरभूम, हावड़ा, कोलकाता पोर्ट, दक्षिण 24 परगना, पूर्वी कोलकाता, सेंट्रल मेदिनीपुर, पूर्वी मेदिनीपुर, दक्षिणी कोलकाता, हुगली, बेहला (कोलकाता) में एक-एक टीम तैनात है। वही, ओडिशा के बालासोर में तीन टीमें और एक इंजीनियरिग टास्क फोर्स की तैनाती की गई है।

“एक कहानी ऐसी भी : चन्द्रिका योल्मो लामा”

- Advertisement -

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि 11.2 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया है, तूफान के असर से हालिशहर में 40 हजार से ज्यादा घरों को नुकसान हुआ है, इस दौरान 4-5 लोग घायल भी हुए, छुछुरा में भी करीब इतने ही घर क्षतिग्रस्त हुए, जबकि पंदुआ में बिजली गिरने से 2 लोगों की मौत हुई। राज्य के गवर्नर जगदीप धनखड़ कोलकाता के अलीपुर स्थित मौसम विभाग के ऑफिस पहुंचे। य

मौसम विभाग ने बिहार में अगले 2-3 दिन के लिए भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। झारखंड में यास तूफान को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है, राज्य के दक्षिणी और केंद्रीय इलाकों में 2-3 दिन तेज बारिश के साथ आंधी-तूफान चल सकते हैं।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles